संधि - xbook.in

संधि

संधि

दो वर्णों के मेल से जो विकार उत्पन्न होता है |

        जैसे - मत+अनुसार = मतानुसार ( अ + अ = आ हो गया है )

संधि-विच्छेद

संधि के नियमों द्वारा मिले वर्णों को फिर से मूल अवस्था में ले आना |

         जैसे - स्वार्थी = स्वा+अर्थी  ( आ = अ + अ हो गया है )

 

संधि के प्रकार -  संधि तीन प्रकार की होती है | 

        1. स्वर संधि 

        2. व्यंजन संधि 

        3. विसर्ग संधि 

                1. स्वर संधि           






उदाहरण - 
दीर्घ संधि  के उदहारण - 
              धनार्थी = धन + अर्थी 
              रामावतार = राम + अवतार 
              कपीश = कपि + ईश

गुण संधि के उदाहरण - 
              नरेन्द्र = नर + इंद्र
              परमेश्वर = परम + ईश्वर 
              रमेश = रमा + ईश
              राजर्षि = राज + ऋषि 
              परोपकार = पर + उपकार 
              जलोर्मी = जल + उर्मि

वृद्धि संधि के उदहारण - 
              एकैक = एक + एक 
              मतैक्य = मत + ऐक्य 
              वनौषधि = वन + ओषधि 
              परमौषध = परम + औषध
              सदैव = सदा + एव
              महौषध = महा + औषध 


No comments